ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह कोनसा है इन हिंदी

Hello दोस्तो hindikiinfo वेबसाइट पर आप सभी का स्वागत है। आशा करता हूं आप सब बढ़िया और तंदुरुस्त होंगे। दोस्तो हमारा आज का टॉपिक हैं हमारे ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह।

ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह
ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह

दोस्तो आप को अपने शालेय जीवन में ग्रहों के बारे में पढ़ाया तो गया हैं और आपको शायद पता भी होगा कि ब्रह्मांड क्या हैं, उसमे कितने ग्रह हैं, उनमें से सबसे बड़ा और छोटा ग्रह कोनसा हैं। अगर नहीं भी तो इस पोस्ट के द्वारा हम ये खुलासा कर देंगे। तो आज हम ब्रह्मांड के सबसे बड़े ग्रह के बारे में विस्तृत जानकारी ले कर आए हैं। आशा करता हूं आपको ये पोस्ट पसंद आएगी और आप इसको अंत तक जरूर पढ़ेंगे। तो चलिए ज्यादा समय न गवाते हुए शुरू करते है आज का हमारा ये सफर।

ब्रह्मांड क्या हैं ?

दोस्तो अगर हम ब्रह्मांड को सरल भाषा में समझना चाहते हैं तो ब्रह्मांड वो हैं जिसमे सभी तारे, ग्रह, उपग्रह आदि स्तिथ हैं। दोस्तो ब्रह्मांड इतना बड़ा हैं की आपकी और हमारी सोच में भी नहीं समा सकता। इसी तरह उसमे कहीं सारी गलेक्सीज हैं और हमारी पृथ्वी जिस गैलक्सी में आती हैं वो हैं मिल्कीवे गैलक्सी।
दोस्तो इस गैलक्सी के बस 0.003% हिस्से में अभी हम रह रहे हैं यानी की हमरा सौर मंडल।
ये इस गैलक्सी का बस एक छोटा सा कोना हैं।
तो आयिए हम आपको इसी सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह कोनसा हैं इसके जानकारी करवा देते हैं।

ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह

दोस्तो आप ये तो जानते ही हैं कि हम जिस ग्रह पर रह रहे हैं उसका नाम पृथ्वी हैं। और इस सौर मंडल का सबसे बड़ा तारा हमरा सूरज हैं। वैसे ही बात कि जाए सबसे बड़े ग्रह कि तो हमारे सौरमंडल में सबसे बड़ा ग्रह जुपिटर हैं। ये इतना बड़ा हैं कि इसमें लगभग 1300 पृथ्वी समा सकती हैं। पर आपको जानकर हैरानी होगी कि ब्रह्मांड में इससे भी बड़े अबतक खोजे हुए ग्रह हैं जो जुपिटर से तीन या चार गुना बड़े हैं और कुछ तो उससे भी बड़े जिसका हम अंदाज़ा भी नहीं हैं।

दोस्तो में आपको बता देता हूं क्या फर्क होता हैं एक ग्रह और तारे में जिससे आपको ये स्पष्ट हो सके कि हम जब उन ग्रहों कि तुलना सूरज से करते समय आपको कोई भी संभ्रम ना रहे। तो दोस्तो तारा वो होता हैं जो लाइट को उत्सर्जित करता हैं, उसकी अपनी एक रोशनी होती हैं और इसका उल्टा ग्रह को अपनी रोशनी नहीं होती वो तारे से आए हुए लाइट को बस रिफ्लेक्ट करता हैं। तो तारा और ग्रह ये बिल्कुल अलग अलग होते हैं।ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह

तो दोस्तो चलिए जानते हैं आजतक के खोजे गए सबसे बड़े ग्रह के बारे में। दोस्तो हमारे सौरमंडल के बाहर के सभी ग्रहों को वैज्ञानिक Exo-Planet कहते हैं। तो जानेंगे की वास्तव में ये ग्रह कितने बड़े ही सकते हैं।

सबसे पहले आता हैं WASP-17B का ये Expo-planet 2012 में खोजा गया था और ये उस समय का अबतक का सबसे बड़ा ग्रह माना जाता था। ये पृथ्वी से करीब 1000 लाइट वर्ष दूर हैं और जुपिटर से लगभग दो गुना जितना बड़ा और विशाल हैं। ये आपके अंदर करीब 8500 पृथ्वी को समा सकता हैं। ये गैस जाइंट ग्रह हैं तो इस पर जीवन कि कोई अपेक्षा नहीं हैं। भले ही ये जुपिटर से दो गुना बड़ा जरूर हैं लेकिन ये जुपिटर से दो गुना हलका भी हैं। बात कि जाए इसकी और पृथ्वी कि डेंसिटी कि तो उसमे भी पृथ्वी कि घनता ज्यादा हैं, क्योंकि पृथ्वी के मुकाबले इसकी सर्फेस ग्रैविटी बहोट काम हैं। मान लो अगर आप किसी तरह से इस ग्रह पर उतर भी गए तो अपने आप को आप बहुत ही हलका महसूस करोगे। आप इस ग्रह को पानी पर भी तैरा सकते हैं बस शर्त ये है कि इसके लिए आपको कोई बहुत ही विशाल सा समुद्र चाहिए होगा।

सबसे बड़ा ग्रह कोनसा है इन हिंदी

इसके बाद सबसे बड़े ग्रह कि खोज हैं KEPLER-13 AB जो कि 2011 में हुई थी। इस ग्रह के अपने तीन सूरज हैं। याने कि ये तीन ग्रहों कि परिक्रमा पूरी करता हैं। इस ग्रह को खोजना बड़ा ही मुश्किल काम था, जैसे कि हम जानते हैं कि ग्रहों कि अपनी कोई लाइट नहीं होती वैसे ही इसकी भी रिफ्लेक्ट लाइट बहुत ही कम थी जिसकी वजह से टेलीस्कोप से इसको देख पाना मुश्किल हो रहा था। ये ग्रह जुपिटर से 2.5 गुना बड़ा हैं और ये अपने अंदर करीब 20,000 पृथ्वी को समा सकता हैं। तीन तारो कि परिक्रमा करने की वज़ह से इसका तापमान 3000 डिग्री सेल्सियस इतना होता हैं, और इसकी सर्फेस ग्रैविटी इतनी ज्यादा हैं की आप इस पर जाते ही इसके द्वारा कुचल दिए जाओगे। ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह

पर ये ग्रह भी आगे खोजे गए ग्रह के सामने कुछ नहीं हैं। GQ LUPI B नाम का ये ग्रह अबतक का खोजा हुआ सबसे बड़ा दूसरा स्थान का ग्रह हैं। ये पृथ्वी से 500 लाइट वर्ष दूर हैं। इसकी खोज 2005 में हुई थी। तबसे ले के अब तक कि स्टडी बताती हैं कि ये ग्रह जुपिटर से 3.5 गुना बड़ा हैं, और इसके अन्दर 360,000 पृथ्वी समा सकती हैं। इसको अपने तारे कि परिक्रमा करने के लिए 12 सौ साल लगते हैं याने की इस ग्रह का एक साल मतलब पृथ्वी पर 12 सौ साल जितना होता हैं।

दोस्तो HD 100546 B ग्रह अब तक खोजे गए ग्रह में सबसे विशाल ग्रह हैं। ये इतना विशाल हैं कि जब इसकी खोज हुई तब वैज्ञानिक भी चौंक गए थे। ये जुपिटर से लगभग 7 गुना बड़ा हैं, और ये पृथ्वी से 90 गुना बड़ा हैं। ये अपने अन्दर 800 से ज्यादा जुपिटर और 10 लाख पृथ्वी को समा सकता हैं। हला कि ये expo planet काफी नया हैं और ये अभी भी बन रहा हैं। तो वैज्ञानिक मानते हैं कि ये धीरे धीरे समय के साथ छोटा भी हो जाएगा क्योंकि उनके हिसाब से कोई भी ग्रह इतना बड़ा नहीं ही सकता। पर वो तो बाद कि बात हैं फिलहाल तो हम इसे बस बनता हुआ देख सकते हैं।ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह।

दोस्तो आज अपने देखा की हमारे ब्रह्मांड का सबसे बड़ा ग्रह। आशा करता हूं आप सबने ये पोस्ट अंत तक जरूर पढ़ी होगी और अगर अच्छी भी लगी होगी। अगर कुछ नया सीखने को मिला हो तो इसे शेयर करे अपने सम्बंधित लोगो के साथ। धन्यवाद आपका मूल्यवान समय इस पोस्ट को देने के लिए। इसी तरह कि और पोस्ट के लिए जुड़े रहिए hindikiinfo वेबसाइट पर।

Leave a Comment