रेडियो का अविष्कार किसने किया?, रेडियो का अविष्कार कब किया था?, रेडियो क्या है? 

   Hello दोस्तो hindikiinfo वेबसाइट पर आप सभी का स्वागत है। आशा करता हूं आप सब बढ़िया और तंदुरुस्त होंगे। दोस्तो हमारा आज का टॉपिक हैं रेडियो का अविष्कार किसने किया? 

रेडियो का अविष्कार किसने किया?
रेडियो का अविष्कार किसने किया?

          दोस्तो मुझे यकीन हैं की आप सभी के घर में कभी ना कभी आपने रेडियो जरूर देखा होगा, और किसी के घर में अभी भी उसका उपयोग होता होगा। पिछले कुछ सालों से इन्सान ने इतने सारे अविष्कार किए जैसे कि इंटरनेट,स्मार्टफोन्स, टेलीविजन आदि और कहीं और तरह के भी इसमें अविष्कार के बारे में आपको पता होगा। जिससे कि एंटरटेनमेंट के प्लैटफॉर्म्स काफी बढ़ गए हैं और इंटरनेट, स्मार्टफोन्स काफी सस्ते भी ही गए हैं और तो और इनसे जुड़ी कहीं सारी सेवाएं भी।

वैसे देखा जाए तो आज के युवा टेलीविजन भी ज्यादा तर कोई देखता नहीं हैं पर फिर भी काफी सारे लोक टेलीविजन को देखना पसंद करते हैं। पर रेडियो का वैसा नहीं हैं रेडियो सिर्फ शौकीन लोग ही सुनना पसंद करते हैं और ये तो आपको भी अच्छी तरह से पता हैं कि इनकी संख्या आज  कम ही हैं। उन्नत तकनीकी कि वजह से रेडियो का इस्तेमाल आज के ज़माने में काफी कम हो गया हैं। पर इसी उन्नत तकनीकों कि शुरुवात हुई थी रेडियो से, तो अयिये दोस्तो आज जानते हैं रेडियो क्या हैं?,  रेडियो का अविष्कार किसने किया और कब? 

        दोस्तो रेडियो का नाम सुनते ही सभी को गाने और समाचार वाला एफ एम का चित्र सामने आता होगा, पर दोस्तो ये एक केवल यंत्र हैं। रेडियो एक ऐसी तकनीक हैं जिससे बिना तार के माध्यम से एक जगह से दूसरी जगह संदेश भेजे जाते हैं। आज भी कहीं सारी संचार के साधनों में इसी रेडियो तकनीक का उपयोग किया जा रहा हैं। 

          आसान भाषा में कहा जाए तो ये एक ऐसी तकनीक हैं जिसमे संचार के लिए  रेडियो तरंगों (Radio waves) का उपयोग करके एक जगह से दूसरे जगह तक संकेत पहुंचाया जाता हैं। रेडियो तरंगे एक प्रकार कि विद्युत चुम्बकीय (Electromagnetic) तरंगे होती हैं जिनकी आवृत्ति 30Hz से लेकर 300 GHz तक होती हैं। 

रेडियो का अविष्कार किसने किया था ? 

       दोस्तो रेडियो कि तकनीक के बारे में जानने के बाद मझे यकीन हैं की ऐसी तकनीक आख़िर बनाई किसने ये सवाल जरूर आपके मन में आया होगा। इसका भी खुलासा हम अभी करने हा रहे हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ना। 

       अगर आप Google पर सर्च करोगे रेडियो का अविष्कार किसने किया तो आपको 3 लोगों के नाम दिखेंगे, पर रेडियो के अविष्कार का मुख्य श्रेय जाता हैं गुलिएल्मो मारकोनी (Guglielmo Marconi) जी को। 

1880 के दशक में Heinrich Rudolf Hertz के विद्युत चुम्बकीय कि खोज के बाद गुलिएल्मो मारकोनी ही ऐसे इंसान थे जिन्होंने इसका उपयोग करके एक जगह से दूसरी के संचार के लिए एक सफल यंत्र तयार किया था। इसीलिए उनकी रेडियो का अविष्कारक माना जाता हैं। 

गुलिएल्मो मार्कोनी ने रेडियो का अविष्कार 1896 में किया था। 

          भारत में सन् 1920 में पहली बार मुंबई से रेडियो प्रसारण किया था। इस प्रसारण के लिए मुंबई  में रेडियो क्लब कि स्थापना कि गई थी। हमारे देश कि आज़ादी के बाद AIR  ने रेडियो को घर घर तक पहुंचने में बहुत मूल्यवान कमिगीरी कि, जिसकी वजह से उस जमाने में रेडियो का हर कार्यालय और हर घर में प्रसारण होने लगा था। 

 

           तो दोस्तो आज हमने देखा कि रेडियो कि खोज किसने कि इन हिंदी। आशा करता हूं अपने ये पोस्ट अंत तक जरूर पढ़ी होगी और कुछ नई जानकारी भी मिली होगी। तो दोस्तो पोस्ट अगर अच्छी लगी हो तो इसे अपने सम्बंधित लोगो के साथ जरूर शेयर करें। 

आपका मूल्यवान समय इस पोस्ट को देने के लिए धन्यवाद। इसी तरह कि जानकारी के लिए जुड़े रहिए हमारे hindikiinfo वेबसाइट पर।

Leave a Comment